ओटीपी क्या है ओटीपी का फुल फॉर्म क्या होता है?

ओटीपी क्या है ओटीपी का फुल फॉर्म क्या होता है?

ओटीपी क्या है ओटीपी का फुल फॉर्म क्या होता है?
23 अप्रैल 2021



OTP का उपयोग आप सब ज़रूर करते हैं, कभी पेमेंट करने के लिए तो कभी Login करते समय लेकिन क्या आपको OTP ka full form पता है? इस पोस्ट में ओटीपी क्या है ओटीपी का फुल फॉर्म क्या होता है? सब कुछ जानेंगे।


OTP meaning in hindi – ओटीपी क्या है?

OTP का मतलब एक ऐसे सिक्योरिटी प्रोसेस से है जिसका इस्तेमाल करके यूजर की पहचान की पुष्टि की जाती है।  OTP यानी One Time Password को मशीन द्वारा रैन्डम तरीके से जनरेट किया जाता है। जिसका इस्तेमाल केवल एक बार ही किया जा सकता है। इंटरनेट की दुनिया में ओटीपी सिस्टम एक बहुत ही सुरक्षित पासवर्ड होता है। क्योंकि यह हर बार बदलता रहता है।


ओटीपी क्या है ओटीपी का फुल फॉर्म क्या होता है?
ओटीपी क्या है ओटीपी का फुल फॉर्म क्या होता है?


OTP full form in hindi – ओटीपी का फुल फॉर्म क्या है?

OTP का फुल फॉर्म One Time Password होता है। एक OTP का इस्तेमाल हम सिर्फ एक बार ही कर सकते है। एक बार ओटीपी का इस्तेमाल कर लेने पर यह Expiry (नष्ट) हो जाता है। इसलिए यह काफी सुरक्षित सिक्योरिटी लेबल माना जाता है। जिसमें कोई भी यूजर की गतिविधि की पुष्टि करने के लिए उसके मोबाइल पर एक कोड सेंड किया जाता है। और उसे यूजर को उस वेरीफाइ करना होता है। तभी आगे की प्रोसेस को आगे बढ़ाया जाता है।


ओटीपी कितने अंक का होता है ?

आपको बता दें वैसे मूल रूप से ज्यादातर के OTP 6 अंक के होते हैं, लेकिन कुछ जगह पर इससे कम या ज्यादा भी इस्तेमाल में लाया जाता है। इसके साथ ही कुछ Websites में OTP Character के फॉर्म में भी यूज में लाए जाते है। और OTP की समय सीमा भी अलग अलग निर्धारित रहती है। OTP Average Time 3-15 मिनट होता है।


ओटीपी कितने प्रकार के होते हैं

SMS OTP: इस तरह के OTP को यूजर के मोबाइल नंबर पर SMS के माध्यम से भेजा जाता है। और यदि यूजर के मोबाइल नंबर पर इनकमिंग उपलब्ध नही है तो कुछ कंपनी के OTP को रिसीव करने में समस्या होती है।

Voice calling OTP: इस प्रकार के OTP को यूजर के मोबाइल नंबर पर कॉल करके रोबोट द्वारा Voice में बताया जाता है। इसमें भी इनकमिंग का प्रभाव पड़ता है।

Push OTP: इस तरह के ओटीपी को आधुनिक टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके यूजर्स के स्मार्ट फोन में सेंड किया जाता है। जिसे देखने के लिए यूजर को अपनी फोन स्क्रीन को नीचे की ओर स्वाइप करना होता है। और Push OTP स्क्रीन पर दिख जाती है।

Email OTP: ईमेल पता को वेरीफाइ करने के लिए दिए गए ईमेल पते पर एक OTP सेंड किया जाता है, जिसे Email OTP कहा जाता है। और इसे देखने के लिए यूजर के पास उस ईमेल का एक्सेस होना जरूरी होता है। अर्थात Email OTP को देखने के लिए आपको उस ईमेल को लॉगइन करना जरूरी होता है।


ओटीपी को सुरक्षित क्यों माना जाता है?

जैसा कि OTP मशीन द्वारा कुछ समय के लिये रैन्डम तरीके से स्वतः ही जनरेट किये जाते हैं, और हर बार चेंज होते रहते है। इसलिए किसी हैकर्स के लिए इसे हैक करना नामुंकिन हो जाता है। यही बजह है कि ओटीपी के कान्सेप्ट को इतना सुरक्षित माना गया है। और इसका इस्तेमाल लगभग सभी प्रकार की वेबसाइट, कंपनिया आदि अपनी सिक्योरिटी को मजबूत करने के लिए करती हैं।


OTP से जुड़ी कौन-कौन सी सावधानिया रखनी चाहिए?

  • OTP को किसी के साथ बिल्कुल भी शेयर नही करना चाहिए।
  • अपने मोबाइल में Unsecure Application को बिल्कुल भी Install न करे।
  • किसी भी ओटीपी को इंटर करने से पहले यह ज़रूर सुनिश्चित करें कि यह ओटीपी किस चीज के लिए है।
  • OTP का इस्तेमाल सार्वजनिक जगहों पर करते समय प्राइवेसी का खास ख्याल रखें, वर्ना ओटीपी लीक हो सकता है।
  • मात्र एक OTP से ही आपकी सारी जानकारी को एक्सेस किया जा सकता है। इसलिए किसी अनजान व्यक्ति या कंपनी की OTP को Verify न करें।
  • अगर Mobile Banking का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको OTP का इस्तेमाल बहुत ही ध्यान पूर्वक करना चाहिए। क्योंकि कई लोग OTP के लीक होने से लाखों रूपये गँवा चुके है।

यह भी पढ़े

दोस्तों कमेंट ज़रूर करें क्योंकि आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढ़ाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! धन्यवाद 🙏💕