USB क्या है और USB का फुल फॉर्म क्या है?

USB क्या है और USB का फुल फॉर्म क्या है?

 USB क्या है और USB का फुल फॉर्म क्या है?
30 अक्तूबर 2020

 USB क्या है और USB का फुल फॉर्म क्या है?

 

आज लगभग सभी लोग यूएसबी का इस्तेमाल करते है चाहे फिर मोबाइल को चार्जर से कनेक्ट करना हो या फिर कंप्यूटर से डाटा को ट्रांसफर करना हो। लेकिन क्या आपको पता है USB क्या है और USB का पूरा नाम क्या है? तो आज आप इस पोस्ट में जानेंगे USB की पूरी जानकारी हिन्दी में।


यूएसबी क्या है (what is USB in Hindi)

USB क्या है और USB का फुल फॉर्म क्या है? यूएसबी क्या है (what is USB in Hindi), USB kya hai


USB का फुल फॉर्म Universal Serial Bus है। USB एक ऐसा पोर्ट है जो बहुत सरल Cable Connection होता है जिससे हम बड़ी ही आसानी से कंप्यूटर को उसके विभिन्न पेरीफेरल डिवाइसेस से आपस में कनेक्ट कर सकते है।


इसकी सहायता से कंप्यूटर के विभिन्न बाहरी डिवाइसेस को आसानी से जोड़ा या हटाया जा सकता है। USB Cable के द्वारा किसी भी डिवाइस को कनेक्ट करने के लिए अलग से बाहरी पावर की जरूरत नही पड़ती है क्योंकि USB  के द्वारा कंप्यूटर से पावर भी सप्लाई किया जा सकता है उन Devices को जिन्हे आप कनेक्ट कर रहे हैं।


USB (Universal Serial Bus) कंप्यूटर के पेरीफेरल जैसे माउस, कीबोर्ड, पर्सनल डिजिटल असिस्टेण्ट, गेम पैड्स, जॉयस्टिक, स्कैनर्स, डिजिटल कैमरा, प्रिंटर, पर्सनल मीडिया प्लेयर, फ्लैश ड्राईवर को कनेक्ट करने के लिए बनाया गया है। और इन सब को कनेक्ट करने के लिए अलग से किसी प्रकार के विशिष्ट ड्राईवर Install करने की भी जरूरत नही होती है।


सबसे पहले Universal Serial Bus (Version 1.0) को Commercially सन 1996 के जनवरी में रिलीज किया गया था। और इस Standard USB को जल्द ही दुसरे बड़े कम्पनीज जैसे Intel, Compaq, Microsoft आदि के द्वारा अपना लिया गया था।


USB Port Devices में कहाँ पर लगे होते हैं?

लगभग सभी आधुनिक Computers में कम से कम एक USB पोर्ट होता ही है या फिर इससे ज्यादा भी होता है।

Desktop computer में अक्सर 2 से 4 USB Port होते हैं ये पोर्ट सीपीयू में लगे होते है जिनसे हम कीबोर्ड और माउस को कनेक्ट करते है और इसके साथ ही 127 कई अन्य प्रकार के USB डिवाइसेस को भी कनेक्ट कर सकते है।


Laptop computer एक लैपटॉप में भी 1 से 4 पोर्ट साईड में होते हैं। इसमें भी आप वो सब कनेक्ट कर सकते है जो डेस्कटॉप में कनेक्ट होते हैं।


Tablet computer में कंप्यूटर या लैपटॉप जैसा पोर्ट नही होता बल्कि इसमें छोटा USB Port होता है जो की चार्जिंग पोर्ट के रूप में होता है लेकिन इसमें भी आप OTG Cable की मदद से कई डिवाइसेस को कनेक्ट कर सकते हैं।


Smartphone में भी टैवलेट की तरह ही Micro USB Port होता है जो चार्जिंग के अलावा कंप्यूटर से डाटा को ट्रांसफर करने में भी यूज किया जाता है। अगर आपका स्मार्टफोन OTG को सपोर्ट करता है तो आप इसमें भी कई और अन्य डिवाइस को कनेक्ट कर सकते हैं। जैसे कीबोर्ड, माउस, पेन ड्राईव जैसे और भी बहुत कुछ।


OTG Full form

OTG का फुल फॉर्म On The Go होता है। आप OTGUSB का इस्तेमाल एक मोबाइल को दूसरे मोबाइल से कनेक्ट करने के लिए कर सकतै हैं।


USB कितने प्रकार की होती हैं? Types of USB Cable in Hindi

USB क्या है और USB का फुल फॉर्म क्या है?


USB Type-A ­: सामान्यतः सभी USB cable में केवल के एक छोर में USB type-A इस्तेमाल होता है जैसे कीबोर्ड माउस आदि में।


USB Type-B : ये दिखने में लगभग Square connector जैसे होता है, मुख्यतः इसका इस्तेमाल प्रिंटर और अन्य powered device के लिए होता है जिसे की कंप्यूटर के कनेक्ट किया जाता है। USB Type-B का इस्तेमाल USB Type-A का तुलना में बहुत ही कम होता है।


Mini-USB : एक standard connector type है जब मोबाइल डिवाइस के लिए Micro-USB नही हुआ करते थे। उस समय मिनी यूएसबी का यूज होता था। यह रिगुलर USB की तुलना में काफी छोटे होते हैं अब भी इनका इस्तेमाल कुछ कैमरों में होता हैं।


Micro-USB : आजकल जितने भी मोबाइल और कई दुसरे पोर्टेबल डिवाइस उन सभी में माइक्रो यूएसबी का इस्तेमाल किया जाता है। यह एक Standard USB Cable है। लगभग सभी कंपनियाँ इसी का इस्तेमाल करती हैं सिर्फ apple को छोड़कर।


USB Type-C : यह दिखने में USB Type B की तरह ही होता है लेकिन इसका आकार थोड़ा सा छोटा होता है। इसकी सबसे खास बात यह है कि इसे दोनो तरफ से यूज किया जा सकता है। USB Type-C डिवाइस को Multiple connectivity का विकल्प देता है। तथा इसकी डाटा ट्रांसफर रेट भी काफी ज्यादा है। इसका इस्तेमाल आप कैमरा MP3 player और अन्य बाकी छोटे डिवाइस को कम्प्यूटर से कनेक्ट करने में होता है।


यह भी पढ़े

👉 कंप्यूटर में इमोजी कैसे टाइप करे 😉

👉 RAM और ROM क्या है? पूरी जानकारी हिन्दी में

कमेंट ज़रूर करें क्योंकि आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढ़ाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !!