Featured Post

Recommended

Cryptocurrency Meaning in Hindi | क्रिप्टो करेंसी क्या होती है, क्रिप्टो करेंसी के फायदे और नुकसान

  Cryptocurrency Meaning in Hindi -  क्रिप्टो करेंसी क्या होती है , क्रिप्टो करेंसी के फायदे और नुकसान सभी देशों की अपनी अलग-अलग एक मुद्र...

Focus Mode kya hota hai | फोकस मोड कैसे यूज करें?

Focus Mode kya hota hai | फोकस मोड कैसे यूज करें?

Focus Mode kya hota hai | फोकस मोड कैसे यूज करें?

मोबाइल की Setting पर या Notification bar में एक Focus Mode का फीचर होता है। यह मोबाइल क्यों पर दिया रहता है इसका क्या उपयोग होता है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे Focus Mode kya hota hai और फोकस मोड कैसे यूज करें? अगर आप मोबाइल का इस्तेमाल जरूरत से ज्यादा करते हैं तो यह Focus Mode आपकी काफी हेल्प कर सकता है।


Focus Mode kya hota hai – फोकस मोड क्या होता है?

जैसा की आप सभी जानते हैं कि मोबाइल फोन सबसे ज्यादा समय और ध्यान भटकाने का कारण होता है। जिससे किसी भी काम में फोकस नही कर पाते हैं। क्योंकि बार-बार Mobile में नोटिफिकेशन आता रहता है। इसी चीज का सोल्यूशन है Focus Mode इस फीचर की मदद से आप अपने मोबाइल के उन सभी Apps को कुछ समय के लिए बंद कर सकते हैं। जो सबसे ज्यादा फोकस खराब करने का काम करते हैं।


जैसे कि YouTube, WhatsApp, Facebook या फिर ऐसे ही और भी कई सारे ऐप है जो बहुत ज्यादा Time waste करते हैं और साथ किसी कार्य को में Focus करने में बाधा डालते हैं चाहे फिर वह काम Mobile पर Online हो या फिर Offline हो। इन्हे रोकने के लिए आपके Mobile में दिए गए Focus Mode का इस्तेमाल कर सकते हैं। तो चलिए अब जानते हैं कि Focus mode का उपयोग कैसे करें? अपने मोबाइल पर।


Focus Mode kaise Banaye – फोकस मोड कैसे सेट करते हैं?

Focus Mode, Digital Wellbeing Tool और Parental Controls Settings का एक फीचर है। इसलिए इसे Activate करने के लिए आपको मोबाइल की Setting पर जाना होगा। फिर थोड़ा सा नीचे स्क्रॉल करते हुए Digital Wellbeing & Parental Controls ऑप्शन को सेलेक्ट करना है। यहाँ पर आप देख सकते हैं कि आज के दिन कितने समय किस ऐप टाइम बिताया गया है।


अब इस पेज पर थोड़ा नीचे जाएगे तो आपको Focus Mode का Option दिखाई देगा। उस पर क्लिक कीजिए। इसी ऑप्शन का शॉर्टकट भी होता है जो की आपके मोबाइल की नोटिफिकेशन बार पर आता है।

Focus Mode kya hota hai | फोकस मोड कैसे यूज करें?
Focus Mode kya hota hai | फोकस मोड कैसे यूज करें?


Focus Mode पर क्लिक करने पर कई सारी Apps की लिस्ट Show होने लगेगी। यहाँ पर आप उन सभी Apps को टिक करिए जिसे आप कुछ समय के लिए बंद करना चाहते हैं। 


अब यहाँ पर आपको उपर दो ऑप्शन शो होने लगेंगे Set a schedule इससे आप फोकस मोड के लिए एक टाइम पीरियड चुन सकते हैं कि कितने बजे से Focus Mode automatic enable हो जाए।


फिर TURN ON NOW पर क्लिक कीजिए। इससे Focus Mode enable हो जाएगा। जब तक आपके मोबाइल पर फोकस मोड चालू रहेगा तब तक ये Apps आपको डिस्टर्ब नही करेंगे।

Focus Mode kya hota hai | फोकस मोड कैसे यूज करें?
Focus Mode activate


इसके अलावा यदि इन Apps को फिर भी ओपेन करने की कोशिश करते हैं तो एक अलर्ट आता है जिसमें बताया जाता है कि Focus mode is on. लेकिन यदि फिर भी आप इसे यूज करना चाहते हैं तो USE APP FOR 5 MINUTES पर क्लिक कर सकते हैं और 5 मिनट के लिए इसे यूज कर सकते हैं।



Focus Mode Kaise Nikale – फोकस मोड से बाहर कैसे निकले?

आप किसी भी समय Focus Mode Disable कर सकते हैं। इसके लिए आपको फिर वही जाना होगा जहाँ से आपने इसे चालू किया था। अब यहाँ पर आपको एक TURN OFF NOW पर क्लिक करना होगा। जिससे Focus Mode Disable हो जाएगा।

Focus Mode kya hota hai | फोकस मोड कैसे यूज करें?
Focus Mode Disabling

या फिर सीधे ही नोटिफिकेशन बार से ही इसे एक क्लिक में Off कर सकते हैं।


निष्कर्ष

यदि आप मोबाइल का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करते हैं या मोबाइल की बजह से आपका Focus loose हो जाता है। तो आपके लिए यह Focus Mode Feature काफी मददगार साबित हो सकता है। जिसको मोबाइल पर ऑन करने के बाद आप किसी काम को पूरे फोकस के साथ केन्द्रित हो सकते हैं।


इस आर्टिकल में हमने सीखा Focus Mode kya hota hai और फोकस मोड कैसे यूज करते हैं? उम्मीद करते हैं कि अब Focus Mode का उपयोग जरूर करेंगे अपना बहुमूल्य समय बचाने के लिए और मोबाइल का इस्तेमाल लिमिट में करने के लिए।


अगर आपके परिवार या दोस्त में कोई बहुत ज्यादा मोबाइल पर बिजी रहते हैं तो उन्हे इस पोस्ट को जरूर शेयर करें। क्योंकि आपका हर एक मिनट कीमती होता है जो कि पुनः नही लौट सकता हैं। इसलिए इसे फालतू के कामो में मत खर्च करिए। धन्यवाद!


यह भी जानें

Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

 Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

दुनिया में हर दिन नई-नई Technology का अविष्कार होता रहता है। जिसका असर हमारी लाइफ स्टाइल में बखूवी दिखाई देता है। चीजे बदल रही है और लोगो के काम करने का तरीका भी बदल रहा है। जैसा कि कुछ समय पहले हमें मोबाइल का रिचार्ज करने के लिए मोबाइल वाले अंकल की दुकान पर जाना पड़ता था या किसी मोबाइल रिचार्ज रिटेलर के पास जाना पड़ता था। लेकिन अब आप घर पर अपने मोबाइल से ही Recharge कर सकते हैं।


Mobile ka Recharge करने के लिए बहुत सारे तरीके है जैसे Paytm, Flipkart, Amazon, Airtel Payments आदि कई सारे प्लेफॉर्म मौजूद हैं जिनसे आसानी से रिचार्ज किया जा सकता है। यहाँ पर हम बताएंगे Flipkart se mobile recharge kaise kare क्योंकि आप फ्लिपकार्ट से Online Shopping तो करते ही है और उसी का इस्तेमाल करके रिचार्ज भी कर सकते हैं।


Flipkart se mobile recharge kaise kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

Flipkart se mobile recharge करने के लिए सबसे पहले आपको Flipkart app को ओपेन करना है। अगर आप के मोबाइल मे फ्लिपकार्ट install नही है तो पहले प्लेस्टोर से इसे डाउनलोड कर लीजिए और लॉगइन कर लीजिए। इसके बाद नीचे बताए गए स्टेप को फॉलो करें।


Step 1

Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें
Flipkart Se Recharge Kaise Kare - फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें


Login करने के बाद अब आप सबसे उपर लेफ्ट साइड में 3 लाइन (Three line) पर क्लिक कीजिए, जिसके बाद इस तरह के ऑप्शन देखने को मिलेगे जैसा की स्क्रीनशॉट में दिख रहा है।


Step 2



Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें


अब यहाँ कई सारे ऑप्शन तो हैं लेकिन Recharge का कोई ऑप्शन नही है। तो इसके लिए आपको My Order पर क्लिक करना है। इसके बाद Super Partner Apps के ऑप्शन पर क्लिक कीजिए जिसके बाद Recharge का ऑप्शन मिल जाएगा। इसके लिए एक और तरीका है जिससे Recharge का ऑप्शन आपको मिल जाएगा।

Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

इसके लिए आप सबसे नीचे SuperCoin पर क्लिक करें इसके बाद Recharge पर क्लिक कीजिए और रिचार्ज वाले पेज पर पहुच जाएगें।


Step 3

Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

अब यहाँ पर आपको अपना मोबाइल नं (जिस मोबाइल का रिचार्ज करना चाहते हैं) डालें और Operator सेलेक्ट करें इसके बाद मेन जो आपको फिल करना है वह है Amount डालिए जितने का रिचार्ज करना चाहते हैं। या फिर सामने में दिए गए Check Plans पर क्लिक कीजिए और अपना मनपसंद प्लान सेलेक्ट कर लीजिए। और फिर Recharge Now पर क्लिक करिए। 

Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

अब एक पॉपअप में सारी डिटेल दिखाई देगी उसे ध्यान से देखे सब सही होने पर Proceed to Payment Summary पर क्लिक कीजिए।


Step 4

Flipkart Se Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

अब यदि आपके पास SuperCoins हैं और उसे रिचार्ज में यूज करना चाहते हैं तो इस ऑप्शन को टिक रहने दे। इसके बाद Proceed to Payment Summary क्लिक करें। आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा उसे एंटर कीजिए और Submit OTP पर क्लिक करिए। लेकिन यदि आप सुपरक्वाइन को यूज नही करना चाहते हैं तो इसे Uncheck कर दें। और Proceed to Payment Summary क्लिक करें।



Step 5

Flipkart Se Mobile Recharge Kaise Kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें

अब अगले पेज पर पेमेंट ऑपशन सेलेक्ट कीजिए जिसके जरिए आप पैसे Pay करेगें जैसे UPI, Debit card, Credit Card या फिर Net Banking में से किसी एक को सेलेक्ट कीजिए यदि आपके पास ATM Card है तो Debit card पर क्लिक कीजिए। और अपने कार्ड की डिटेल भरिए इसके बाद Proceed to Pay पर क्लिक कर दीजिए।


अब आप के डेबिट कार्ड से जुड़े मोबाइल नंबर पर एक OTP भेजा जाएगा उसे एंटर करिए और Submit OTP पर क्लिक कीजिए आपके Mobile का Recharge हो जाएगा।


Conclusion

उपर बताए गए Steps को फॉलो करके आप Flipkart Se Mobile  Recharge कर सकते हैं। और सबसे अच्छी बात यह है की आप यहाँ पर Super Coin का भी इस्तेमाल रिचार्ज करने में कर सकते हैं जिससे आप कम पैसे पेमेंट करना होता है। और यदि आप के पास बहुत ज्यादा Super Coin मौजूद है तो आप केवल इससे ही रीजार्ज कर सकते हैं। आपको अलग से पैसे नही देने पड़ेगे।


उम्मीद करता हूँ की यह पोस्ट Flipkart se mobile recharge kaise kare | फ्लिपकार्ट से रिचार्ज कैसे करें आपको पसंद आई होगी और इससे आपकी हेल्प हुई होगी।


यह भी जानें

SSD full form in computer in Hindi | SSD क्यों बेहतर है HDD से, जानिए SSD क्या है? पूरी जानकारी

SSD full form in computer in Hindi | SSD क्यों बेहतर है HDD से, जानिए SSD क्या है? पूरी जानकारी

SSD full form in computer in hindi | SSD क्यों बेहतर है HDD से, जानिए SSD क्या है? पूरी जानकारी

यदि आपको SSD और HDD के बारे में कन्फ्यूजन हो तो यहा पर हम इसी के बारे में डिटेल में जानकारी देना वाला हूँ। यदि आप कंप्यूटर या लेपटॉप खरीदने वाले है तो आप को जरूर HDD and SSD की जानकारी होनी चाहिए साथ आपोक पता होना चाहिए कि SSD क्यों बेहतर है HDD से। तो चलिए जानते हैं-


SSD full form in computer - SSD क्या होता है?

SSD full form in computer - ssd क्या होता है?
SSD full form in computer - SSD क्या होता है?

सबसे पहले जानते हैं है कि SSD का फुल फॉर्म क्या होता है? SSD एक सेकंडरी स्टोरेज डिवाइस होता है। SSD का full form Solid State Drive होता है। जो कि HDD यानी Hard Disk Drive की तरह ही डाटा को स्टोर करने का काम करता है, लेकिन SSD और HDD का स्ट्रक्चर अंदर से बिल्कुल अलग-अलग होता है।


हार्ड डिस्क ड्राइव क्या है? - HDD (Hard Disk Drive) kya hai?

कंप्यूटर में दो प्रकार की मेमोरी का इस्तेमाल किया जाता है जिसे Primary Memory (RAM, ROM) और Secondary Memory (Hard Disk, Pen drive, Floppy disk) के नाम से जाना जाता है। Hard Disk Drive कंप्यूटर की सेकंडरी स्टोरेड डिवाइस होती है। जिसमें यूजर द्वारा Data, Document Files, Videos, Audios इत्यादि कुछ भी को बहुत दिनो तक स्टोर करके रख सकता है। हार्ड डिस्क 1TB से 10 TB तक की आती है।


हार्ड डिस्क कैसे काम करता है? HDD kaise work karta hai?

HDDs यानी हार्ड डिस्क को बनाने वाली पहली कंपनी IBM है जो कि पहला HDD सन 1956 में डेवलल किया था। जिसका वजल 250 किलोग्राम था और यह माभ 5MB की थी। और फिर बाद में धीरे-धीरे इसमें कई सारे बदलाव किए गए और इसे इतना छोटा आकार दिया गया।


हार्ड डिस्क में डाटा को स्टोर करने के लिए Magnetism तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। Hard Disk Drive में Metal की गोल तथा सपाट plate लगी होती है जिस पर Magnetic material की परत होती है। इस प्लेट को Disk या Platter कहा जाता है। और यह डिस्क एक या इससे अधिक होती है। सभी डिस्क एक के उपर एक थोड़ी दूरी पर फिट होती है।


हार्ड डिस्क कैसे काम करता है? HDD kaise work karta hai?
हार्ड डिस्क कैसे काम करता है? HDD kaise work karta hai?


सभी प्लेट एक धुरी के जरिए एक मोटर से जुड़ी होती है जिसे Spindle motor कहते हैं। जब हार्ड डिस्क में डाटा Read / Write किया जाता है तो यह मोटर 3600 से 7200 चक्कर (Rotation per minute) प्रति मिनट घूमता है। इन प्लेट के उपर एक Read and write head लगा होता है जो आगे पीछे मूव कर सकता है। इसे Spinning Platter कहा जाता है।


Hard disk बहुत ही संवेदनशील होती है यदि धूल कचड़ा इसके अंदर चला जाए तो इसे खराब कर देता है। इसीलिए इसे एक हार्ड मेटल के एक बोक्स में स्थाइ रूप से बद कर दिया जाता है। हार्ड डिस्क सस्ती व स्लो होती है SSD के मुकाबले से, आइए जानते हैं SSD क्या है और SSD full form in computer.



SSD क्या होता है? और क्यो HDD से बेहतर है?

SSD full form in computer – Solid State Disk होता है। और जिसका हिंदी अर्थ ठोस अवस्था वाला डिस्क है। SSD में किसी भी प्रकार का घूमने या मूव होने वाला डिस्क नही होता है। यह पेनड्राइव की तरह होता है लेकिन उससे बड़ा होता है। Pendrive की तरह ही SSD में Card लगा होता है। और इन कार्ड में कई सारे Micro Chips होते हैं।

SSD क्या होता है? SSD full form in computer in Hindi
SSD क्या होता है? SSD full form in computer in Hindi


इन्ही माइक्रो चिप में डाटा को स्टोर किया जाता है। इसमें किसी भी प्रकार का मैग्नेटिक धातु का इस्तेमाल नही होता है। बल्कि यह सेमीकंडक्टर से अर्धचालक धातु से बने होते हैं। चूकि इसमें किसी भी प्रकार का Moving या घूमने वाली चीज नही होती है जिससे यह काफी ज्यादा फास्ट काम करता है। और यह गिरने या दबाव पड़ने पर भी सुरक्षित रहता है।


SSD कैसे काम करती है?

Solid State Disk (SSD) में Data को Read तथा Write करने के लिए एक Controller होता है जिसको SSD का Brain या Processor भी कहते हैं यही Processor Data को Store करता है और SSD की Memory को Clean Up भी करता है।


SSD क्यों बेहतर है HDD से – SSD vs HDD

इन दोनो हार्ड डिस्क में कुछ पांइट के आधार पर अंतर देखा जा सकता है जैसे कि


Power Consume

  • SSD में कम पॉवर की जरूरत होती है क्योंकि इसमें किसी भी प्रकार का मूविंग पार्ट यानी मोटर नही होता है जिसके चलते यह कम पॉवर लेता है जबकि
  • HDD में Disk को घुमाने के लिए एक छोटा सा मोटर लगा होता है जिससे यह ज्यादा Power consume करता है। और बैट्री की लाइफ को कम करता है।


Performance / Speed

  • SSD, HDD की तुलना में 30% faster होता है।
  • HDD, SSD के मुकाबले में स्लो होता है।


Price / Cost

  • SSD काफी coastally होती है। 1TB SSD की Price लगभग 10000 है। जबकि
  • HDD, SSD की तुलना में बहुत सस्ता होता है। 1TB HDD लगभग 3000 की आती है।


Noise & Vibration

  • चूंकि एसएसडी में किसी भी प्रकार का मूविंग पार्ट नही होता है जिसके कारण इसमें कोई भी शोर या कंपन नही होता है। जबकि
  • हार्ड डिस्क में डिस्क काफी तेजी से घूमती है जिसके कारण इसमें (Noise) आवाज आती है और कंपन भी होता है।


Heat Produced

  • जैसा कि SSD में किसी भी प्रकार का मूविंग पार्ट नही होता है जिसके चलते यह कम पॉवर लेता है और Heat भी बहुत कम पैदा करता है। जबकि
  • HDD में Disk को घुमाने के लिए मोटर लगा होता है जिसके चलते यह ज्यादा Power consume करता है और Heat भी प्रोड्यूज करता है।


Magnetism Affected 

  • SSD Magnetism effect से बिल्कुल सेफ होता है।
  • HDD पर Magnets का काफी प्रभाव पड़ता है मैग्नेटिक इफेक्ट के कारण इसका डाटा करप्ट या Erase भी हो सकता है।


आपको SSD या HDD कौन सा लेना चाहिए

इन दोनो का अपनी जगह पर अपना महत्व है जैसे कि यदि आप कंप्यूटर या लैपटॉप में डाटा को स्टोर करना है और आपको इसकी स्पीड से कोई ज्यादा फर्क नही पड़ता है तो आपके लिए HDD (Hard Disk Drive) लेना बेहतर साबित होगा।


लेकिन यदि आपको कंप्यूटर की परफोर्मेंस चाहिए यदि कंप्यूटर या फिर लैपटॉप पर हैवी Software run करना है तो आपको SSD लेना चाहिए क्योंकि यह काफी फास्ट होता है। इसके साथ ही यह पॉवर की भी कम खपत करता है।


Conclusion

यहाँ पर हमने जाना की SSD full form in computer in Hindi और SSD और HDD में क्या अंतर होता है? अब आप इन दोनो के बारे में अच्छे से जान गए होगे और अब आप डिसाइट कर सकते है कि आपको SSD या HDD में से कौन सा लेना चाहिए। देखिए आपकी जरूरत पर यह डिपेंड करता है कि आपके लिए कौन सा बेहतर है।


यह भी जाने

Bank account kitne prakar ke hote hain | बैंक में अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं?

Bank account kitne prakar ke hote hain | बैंक में अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं?

 Bank account kitne prakar ke hote hain | बैंक में अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं?

जब भी आप ATM का यूज करते हैं तो आप से पूछा जाता है कि आपका कौन सा अकाउंट टाइप है, चालू खाता है, या बचत खाता है। पर क्या आपको पता है चालू खाता (Current account) क्या होता है और बचत खाता (Saving account) क्या है? दोनो में क्या अंतर है। आज की इस आर्टिकल में हम डिटेल में बात करेंगे Bank account kitne prakar ke hote hain | बैंक में अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं? और इन सभी अकाउंट का क्या यूज होता है?


बैंक में अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं - Bank account kitne prakar ke hote hain

Bank account kitne prakar ke hote hain | बैंक में अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं?
Bank account kitne prakar ke hote hain


बैंको में मुख्य रूप से 4 तरह के अकाउंट होते हैं -

1) बचत खाता- Savings Account

2) चालू खाता – Current Account

3) आवर्ती जमा खाता- Recurring Deposit Account

4) सावधि जमा खाता- Fixed Deposit Account

चलिए इन खातो के बारे में विस्तार से जाने-


बचत खाता किसे कहते हैं - Savings account kya hota hai?

जैसा की इसका नाम ही है बचत खाता यानी सेविंग अकाउंट, यह अकाउंट अपने पैसो को सेव करने के लिए खोला जाता है। इस अकाउंट को कोई भी व्यक्ति जैसे आम नागरिक, सरकारी कर्मचारी, जॉव करने वाला व्यक्ति, क्षात्र, या पेंशन वाला व्यक्ति इत्यादि कोई भी Saving account खुलवा सकता है। सेविंग अकाउंट में जमा की हुई राशि (पैसे) पर खाताधारक को 4-6% ब्याज (Interest) भी दिया जाता है। और यह Interest rate अलग-अलग बैंको की अलग-अलग होती है। इसमें आप जितने चाहे उतने पैसे जमा कर सकते हैं।


लेकिन बचत खाता में कुछ पाबंदिया होती है, इसमें आप एक दिन में केवल 5 transection ही कर सकते हैं। जिसके कारण खाताधारक सेविंग अकाउंट से पैसे निकालने में दिक्कत होती है इसके साथ ही आप बचत खाता से 50 रुपये से कम पैसे नहीं निकाल सकते हैं। और ATM से 6 महीने के अंदर 30 से अधिक बार पैसे नही निकाल सकते हैं। ज्यातर बैंक अपने सेविंग अकाउंट पर मिनिमम बैलेंस रखने के लिए बाध्य करती हैं। यह अमाउंट सरकारी बैंको में 500 से 1000 तक हो सकती है और प्राइवेट बैंको में 5000 से 25000 तक की न्यूनतम राशि रखने के लिए बाध्य करती है। लेकिन बैंक समय-समय पर इन नियमों में बदलाव भी कर सकती है।



कुछ बचत खाता 0 बैलेस पर भी खोले जाते हैं जैसे वजीफे के लिए खोला गया अकाउंट, प्रधान मंत्री जन-धन खाता में 0 बैलेंस रखा जा सकता है। सेविंग अकाउंट खुलवाने वाले ग्राहक को पासबुक, चेकबुक, डेबिट कार्ड (ATM Card), क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग जैसी सुविधा प्रदान की जाती है। आप बचत खाते से आप Online shopping, बिलो का भुगतान कर सकते हैं। किसी दूसरे अकाउंट में पैसे भेज तथा प्राप्त कर सकते हैं


चालू खाता क्या होता है – Current account kya hota hai in hindi

चालू खाता ऐसे लोगों के लिए होता है जिनका रोज का Transitions लाखो में होता है। और एक ही दिन में कई ट्राजेक्शन होते रहते हैं। क्योंकि चालू खाता (Current account) में आप एक दिन में जितने चाहे उतने पैसो का लेन-देन यानी ट्रान्जेक्शन कर सकते है। इसमें पैसो की लेन-देन पर किसी भी प्रकार की कोई लिमिटेशन नही होती है। करंट अकाउंट मुख्य रूप से उद्दयमी, कम्पनी, फर्म और छोटे-बड़े व्यापारी के लिए होता है। जिनके पैसो का फ्लो ज्यादा होता है। लेकिन आम तौर पर इसे भी कोई भी व्यक्ति खुलवा सकता है।


Current account में रखे गए पैसो पर बैंक कोई भी ब्याज नही देता है। यानी की आप इसमें सेविंग अकाउंट की तरह अपने जमा पैसो पर कोई भी इंटरेस्ट नही प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन आपसे बैंक सर्विस चार्ज अलग से लेती है।


इसका बहुत बड़ा फायदा यह होता है कि इसमें Overdraft की सुविधा ग्राहक को दी जाती है। इसका मतलब यह है कि जब आपके चालू खाता (Current account) में पैसे नही रहते हैं या जितने पैसे हैं उससे ज्यादा भी आप पैसे निकाल सकते हैं। और फिर बाद में बैंक को चुका सकते है। इसके अलावा बैंक डिमांड ड्राफ्ट, पेऑर्डर जारी करने, NEFT से फंड ट्रांसफर करने, चेक कलेक्शन, भुगतान और मुफ्ट कैश डिपोजिट सामिल है।


आवर्ती जमा खाता क्या होता है - Recurring deposit account meaning in hindi

आवर्ती जमा खाता यानी Recurring deposit account जिसे सॉर्ट में RD account भी कहते हैं। RD A/C उनके लिए होता है जो अपनी एक निश्चित तय धन राशि एक निश्चित समय के लिए हर महीने जमा करना चाहते हैं। और यह निश्चित समय अवधि पूरा हो जाने पर अधिक ब्याज के साथ उनका पैसा लौटा दिया जाता है।


Recurring deposit account में जमा किए गए पैसो को आप तय समय से पहले नही निकाल सकते हैं। आवर्ती जमा खाता सिंगल या ज्वाइंट खाता खोले जा सकते हैं।


सावधि जमा खाता किसे कहते हैं - Fixed deposit account meaning in hindi

Fixed deposit account जिसे आम तौर पर FD भी कहा जाता है। यह ऐसा अकाउट होता है जिसमें विशेष समय अवधि के लिए एक बार में ही एक तय की गई राशि फिक्स (जमा) कर दिया जाता है। इसमें भी RD account की तरह तय समय से पहले पैसे नही निकाल सकते हैं। समय से पहले पैसे निकाल तो सकते हैं पर आपको बैंक इसके लिए पैनालिटी देता है, जो सभी बैंको में अलग अलग होता है। Fixed deposit account में उपभोक्ता को High interest rate मिलता है। जो कि जमा किये गए पैसे और समय अवधि के हिसाव से अलग-अलग होता है। अधिकतम 10 सालों के लिए यह FD Account खोला जाता है।


तो दोस्तों ये थे बैंक अकाउंट जो कि बैंको द्वारा मेन रुप से यही 4 अकाउंट खोले जाते हैं। इस पोस्ट में हमने जाना कि Bank account kitne prakar ke hote hain - बैंक में अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं? कौन से अकाउंट किस काम के लिए खोले जाते हैं। और इनके क्या क्या फायदे और नुकसान होते हैं।


यह पोस्ट भी आपके लिए यूजफुल है

SBI Bank में अकाउंट कैसे खुलवाए?

इंटरनेट बैंकिंग आईडी कैसे बनाते हैं?

बैंक अकाउंट बंद कराने के लिए आवेदन कैसे लिखे?

Vaccination certificate kaise download kare | इन 3 तरीको से करें वैक्सीन प्रमाण पत्र डाउनलोड

Vaccination certificate kaise download kare | इन 3 तरीको से करें वैक्सीन प्रमाण पत्र डाउनलोड

 Vaccination certificate kaise download kare | वैक्सीन का प्रमाण पत्र कैसे डाउनलोड करें?

कोरोना से जंग जीतने के लिए Vaccination का अभियान चलाया जा रहा है। ऐसे में जब आप Covid-19 vaccine का टीका लगवाते हैं तो सरकार की तरफ से Vaccination certificate प्रदान किया जाता है। जिसे आप Online download  कर सकते हैं। लेकिन Vaccination certificate kaise download kare जानेगें इस पोस्ट में।


अब आपके पास Vaccination certificate download  करने का 3 तरीका है। सरकार ने कोरोना का टीका लगवाने वाले लोगों का टीकाकरण प्रमाणपत्र प्राप्त करने के तरीके को और भी आसान कर दिया है। अब आसानी से कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट अपने व्हाट्सएप नंबर पर भी प्राप्त कर सकते हैं।


Vaccination certificate kaise download karen – कोरोना वैक्सीन प्रमाण पत्र कैसे डाउनलोड करें?


1. WhatsApp से Vaccination certificate कैसे प्राप्त करें?

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने Tweet किया में बताया कि कैसे सिर्फ तीन स्टेप में कोरोना सर्टिफिकेट अपने WhatsApp No. पर प्राप्त किया जा सकता है। स्वास्थ्य मंत्री के ट्वीट के अनुसार वैक्सीन सर्टिफिकेट पाने के लिए सबसे पहले वॉट्सऐप नंबर +91 90131 51515 को अपने मोबाइल में सेव करना होगा।



इसके बाद अपना WhatsApp ओपन करना है इसके बाद सेव किए गए नंबर के चैटबॉक्स में जाकर Covid Certificate टाइप कर उसमें भेजना है। भेजने के बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक 6 अंकों का एक OTP आएगा जिसको WhatsApp में चैटबॉक्स में जाकर भेजना होगा।


Vaccination certificate kaise download kare
Vaccination certificate kaise download kare whatsapp


इसके बाद आपका नाम दिखाई देगा और आपको 1 type कर के सेंड करना है। और आपको Vaccination certificate प्राप्त हो जाएगा।


2. CoWIN की Website से Vaccination certificate kaise download karen?

अपना Vaccination certificate download करने के लिए आप www.cowin.gov.in पर जाना है। और REGISTER / SIGN IN पर क्लिक करना है।


Vaccination certificate kaise download kare
Vaccination certificate kaise download karen CoWIN की Website se

इसके बाद अपना मोबाइल नंबर डालिए और Get OTP पर क्लिक कीजिए।

Vaccination certificate kaise download kare
Mobile se vaccine certificate kaise download kare

अब OTP enter कीजिए और Verify & Proceed पर क्लिक कीजिए।

OTP verification for get vaccine certificate

यहाँ पर आपको अपना डिटेल देखने को मिल जाएगा साथ ही साथ Certificate का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक कर के अपना Vaccination certificate download कर सकते हैं।

Vaccination certificate kaise download karen
Vaccination certificate kaise download kare

3. Arogya Setu App से Vaccination certificate kaise download kare?

आप अपना वैक्सीनेसन प्रमाण पत्र Arogya Setu App से भी डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए आपको प्लेस्टोर से Arogya setu app डाउनलोड करना है और मोबाईल नंबर डाल के Login कर लेना है।

Arogya Setu App से Vaccination certificate kaise download kare?
Arogya Setu App से Vaccination certificate kaise download kare?


इसके बाद Vaccination ऑप्शन पर जाना है और अपना मोबाईल नंबर डालकर PROCEED TO VERIFY पर क्लिक कर दीजिए। आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा वो डालकर फिर से PROCEED TO VERIFY पर क्लिक करिए।

Arogya Setu App से Vaccination certificate kaise download kare?


आपका नाम दिखाई देगा और उसके आगे बने Vaccinated Certificate पर क्लिक कर के अपना Vaccinated Certificate download कर सकते हैं।


FAQ

Q. मैं कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र कहां से डाउनलोड कर सकता हूं?

Ans. www.cowin.gov.in, Arogya setu App, WhatsApp से।

Q. मुझे कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र की आवश्यकता क्यों है?

Ans. यदि आप कही बाहर जाते हैं या यात्रा करते हैं तो Vaccine Certificate की जरूरत होती है। और इसका प्रमाण होता है कि आप वैक्सीन लगवा चुके हैं।


यह भी जानिए

pdf me password kaise dale | How to add password to PDF in Mobile

pdf me password kaise dale | How to add password to PDF in Mobile

PDF me password kaise dale | How to add password to PDF in Mobile

PDF एक Document File का Format होता है। जब भी हम इंटरनेट से कोई सार्टिफिकेट डाउनलोड करते हैं तो हमें यह pdf format में मिलती है। जैसे कि आधार कार्ड, पैन कार्ड या फिर Vaccination Certificate download करते हैं तो वो भी हमें pdf के रूप में मिलती है। और इनमें से कुछ pdf file में password भी लगा होता है। अगर आप जानना चाहते हैं कि अपने किसी भी pdf में पासवर्ड कैसे लगाए मोबाइल से, तो इस पोस्ट में मैं बताने वाला हूँ pdf me password kaise dale या How to add password to PDF in Mobile लेकिन इससे पहले अगर आप नही जानते कि Mobile se pdf kaise banate hain तो यह पोस्ट जरूर पढ़े।


PDF में पासवर्ड लगाने से क्या होता है?

जैसा कि आप के मोबाइल पर आपकी निजी जानकारी जैसे मार्कशीट, बैंक पासबुक, आधार कार्ड, पैन कार्ड या फिर कुछ और है तो आप इसका pdf बना कर इसमें password set कर सकते हैं। इससे होगा ये कि कोई भी यदि आप की मोबाइल को लेता है तो आप की निजी जानकारी को नही देख पाएगा। और आपकी निजी जानकारी का गलत उपयोग नही कर पाएगा। इसलिए आपको पासवर्ड जरूर लगाना चाहिए। तो चलिए अब जानते हैं How to create password protected pdf in mobile.


PDF me password kaise dale - How to add password to PDF in Mobile

किसी भी pdf में password लगाने के लिए आपको मोबाइल पर एक pdf tool install करना होगा। जिसका नाम है Ishan pdf Manager इसे आप प्लेस्टोर से बिल्कुल फ्री में डाउलोड कर सकते हैं। या फिर इसी लिंक पर क्लिक कर सीधे डाउनलोड कर सकते हैं।

आप इस App से कई काम कर सकते हैं जैसे कि pdf में पासवर्ड लगा सकते हैं, पहले से लगे हुए पासवर्ड को रिमूव भी कर सकते हैं। pdf को image में औऱ image या text को pdf में कन्वर्ट कर सकते हैं, पीडीएफ की साइज को compress करके साइज कम कर सकते हैं। तथा और भी बहुत कुछ एक ही ऐप से कर पाएगे।


इस app को डाउनलोड करने के बाद ओपन कीजिए और open करने पर कुछ इस तरह का पेज ओपेन होगा। यहाँ पर आपको थोड़ा सा नीचे आना है और Add password पर क्लिक करना है।

pdf me password kaise dale | How to add password to PDF in Mobile
pdf me password kaise dale - How to add password to PDF in Mobile



अब यहाँ पर आपोक 3 Option दिखाई देगें

SELECT A FILE

CREATE FDF

View Files

Select pdf file for add password, pdf me password kaise dale
Select pdf file for add password


तो अपने pdf को सेलेक्ट करने के लिए SELECT A FILE पर क्लिक करें और पीडीएफ फाइल को सेलेक्ट करें या फिर View Files पर क्लिक करके अपनी सभी pdf file को एक साथ ही देखे और यहाँ से सेलेक्ट कर लें जिस pdf में आपको पासवर्ड डालना।

how to add password in pdf from mobile, pdf me password kaise dale
how to add password in pdf from mobile


इसके बाद CREATE PDF पर क्लिक कीजिए फिर एक Password enter कीजिए और OK कर दीजिए। आपकी नई Password Protected pdf create हो जाएगी। अब पुरानी pdf file डिलीट कर दीजिए और इस नई पासवर्ड वाली pdf को रख लीजिए।


PDF का पासवर्ड कैसे हटाए - PDF ka password kaise hataye

यदि आप इस पासवर्ड को Remove करना चाहते हैं तो, आपको Remove password के ऑप्शन को सेलेक्ट कर के उस पासवर्ड वाली pdf file को सेलेक्ट करना है। और अपना पुराना पासवर्ड डालकर OK कर देना है। Password remove हो जाएगा।


निष्कर्ष

उपर बताए गए ऐप के माध्यम से आप अपने PDF me password dal सकते हैं, और अपनी निजी जानकारी को सिक्योर कर सकते हैं। इसके साथ ही आप pdf को इमेज में convert कर सकते हैं। और इमेज या टेक्स्ट को pdf में बदल सकते हैं। इसके साथ ही आप pdf file को Compress, Merge और Split इत्यादि कर सकते हैं।

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम रोहित सोनी है, और मैं TechnicalRpost.in का Admin and Author हूँ। उम्मीद करता हूँ कि यह पोस्ट PDF me password kaise dale | How to add password to PDF in Mobile हेल्पफुल रही होगी। धन्यवाद!


आपको यह पोस्ट भी पढ़ना चाहिए